उस माँ से क्या कहू

किसी ने खुदा से दुआ मांगी;
दुआ में उसने खुद की मौत मांगी;
खुदा ने कहा मौत तो देदु तुझे;
मगर उस माँ से क्या कहू जिसने तेरी ज़िन्दगी की दुआ मांगी !!


Kisi Ne Khuda Dua Mangi;
Dua Me Usne Khud Ki Maut Mangi;
Khuda Ne Kaha Maut To De Dun Tujhe;
Magar Us Maa Se Kya Kahu Jisne Teri Zindagi Ki Dua Mangi Hai !!

ने क्या था “माँ” की उस फूँक में

ना जाने क्या था “माँ” की उस फूँक में,
हर चोट ठीक हो जाया करती थी,
“माँ” की हल्की सी एक चपत ज़मीन को,
सारा दर्द ही गायब कर दिया करती थी !!


Naa Jaane Kya Tha Maa Ki Us Funk Me,
Har Chot Thik Ho jaya karti Thi,
Maa Ki Halki Si Ek Chapt Jamin Ko,
Sara Dard Hi Gayab Kar Diya Karti Thi !!

कौन कहता है माँ का कलेजा नरम है

कौन कहता है माँ का कलेजा दुनिया में सबसे नरम है,
मैंने बेटियों की विदाई में अक्सर पिता को टूटते देखा है !!


Kaun Kahta Hai Maa Ka Kaleja Duniyan Me Sabse Naram Hai,
Maine Betiyon Ki Vidayi Me Aksar Pita Ko Tutate Dekha Hai !!

माँ के बिना जिन्दगी वीरान होती हैं

माँ के बिना जिन्दगी वीरान होती हैं,
तनहा सफ़र में हर राह सुनसान होती हैं,
ज़िन्दगी में माँ का होना ज़रूरी है,
माँ के दुआओं से ही हर मुश्किल आसन होती है !!


Maa Ke Bina Zindgi Viran Hoti Hai,
Tanha Safar Me Har Rah Sunsaan Hoti Hain,
Zindagi Me Maa Ka Hona Zarori Hai,
Maa Ki Duaon Se Hi Har Mushkil Aasaan Hoti Hai !!

मेरे हिस्से में माँ आई

किसी को घर मिला हिस्से में किसी के हिस्से में दूकान आई,
मै घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई !!


Kisi Ko Ghar Mila Hisse Me Kisi Ko Hisse Me Dukan Aayi,
Mai Ghar Me Sabse Chhota Tha Mere Hisse Me “Ma” Aayi !!

उसकी झोली कभी खाली नही होती

बंद किस्मत के लिये कोई चाभी नही होती,
सुखी के उम्मीदों की कोई डाली नही होती,
जो झूक जाए माँ -बाप के चरणों में,
उसकी झोली कभी खाली नही होती ||


Band Kismat Ke Liye Koi Chabhi Nahi Hoti,
Sukhi Ke Ummido Ki Koi Dali Nahi Hoti,
Jo Jhuk Jaye Ma-Baap Ke Charno Me,
Uski Jholi Kabhi Khali Nahi Nahi Hoti ||

प्रेम अँधा क्यों होता है

आप को पता है प्रेम अँधा क्यों होता है
क्यकी आप के माता पिता आपका चेहरा
देखे बिना आपसे प्रेम करना सुरु कर दिए थे ||


Apko Pata Hai Prem Andha Kyo Hota Hai,
Kyoki Aapke Mata-Pita Apka Chehara,
Dekhe Bina ap Se Prem Apse Prem Karna Suru Kar Diye The ||

ओ माँ तुम बस ऐसी ही रहना

प्यार करना कोई तुमसे सीखे,
दुलार करना कोई तुमसे सीखे,
तुम हो ममता की मूरत,
दिल में बैठाई है मैंने यही सूरत,
मेरे दिल का बस यही है कहना,
ओ माँ तुम बस ऐसी ही रहना !!


Pyar karna koi tum se seekhe,
Dular karna koi tum se seekhe,
Tum ho mamata ki moorat,
Dil me bithayi hai maine yehi soorat,
Mere dil ka bas yehi hai kehna,
O maa tum bas aisi he rehna !!