हमारे पास सांसो की कमी थी

Suhana Mausam Tha Hawa Me Nami Thi
सुहाना मौसम था हवा में नमी थी;
आँसुओ की बहती नदी अभी अभी थमी थी,
मिलने की चाहत बहुत थी उनसे;
पर उनके पास वक़्त और हमारे पास सांसो की कमी थी !!


Suhana Mausam Tha Hawa Me Nami Thi;
Aansuo Ki Bahati Nadi Abhi-Abhi Thami Thi,
Milne Ki Chahat Bahut Thi Unse;
Par Uske Paas Wakt Aur Hamare Pass Sanso Ki Kami Thi !!

रुक गयी है एक पल में

Na Thik Se Jine Deti hai Na Marne Deti Hai
कैसी बन गयी ये ज़िन्दगी;
न ठीक से जीने देती है न मरती है;
बस रुक गयी है एक पल में;
वक़्त तो बीतता जाता है;
पर हम वहीं के वहीं ठहरे हैं !!


Kaisi Ban gayi Ye Zindagi;
Na Thik Se Jine Deti hai Na Marne Deti Hai;
Bas Ruk Gayi Hai Ek Pal Me;
wakt to Bitta Jata Hai;
Par Ham Wahi Ke Wahi Thahare Rahe !!

जज़्बात दफ़न किए बैठे हैं

Dil Ke Armaan Chhupaye Baithe Hain
अपने जज़्बात दफ़न किए बैठे हैं;
दिल के अरमान छुपाए बैठे हैं;
थक गये हैं अपनी ईस ज़िंदगी से;
अब मौत का इंतेज़ार किए बैठे हैं !!


Apne Jajbat Dafan Kiye Baithe Hain;
Dil Ke Armaan Chhupaye Baithe Hain;
Thak Gaye Hain Apni Is Jindagi Se;
Ab Maut Ka Intejaar Kiye Baithe Hain Ham !!

प्यार वो बेपनाह कर गये

Fir Zindagi Me Hamko Tanha Kar Gaye
प्यार वो हम को बेपनाह कर गये;
फिर ज़िनदगीं में हमको तन्हा कर गये;
चाहत थी उनके इश्क में फ़नाह होने की;
पर वो लौट कर आने को भी मना कर गये !!


Pyar Wo Hamko Bepanah Kar Gaye;
Fir Zindagi Me Hamko Tanha Kar Gaye;
Chahat Thi Unke Ishq Me Fanna Hone Ki;
Par Wo Laut Ke Aane Ko Mana Kar Gaye !!

अगले ही मोड़ पे

Ki Agale Hi Mor Par Khushiyo Ka Sahar Hoga
दूर तक तन्हाई का सफर हैं;
न कोई साथी न हमसफर हैं;
चलते हैं दिल के सहारे ये सोच कर;
की अगले ही मोड़ पे खुशियों का सहर हैं !!


Dur Tak Tanhai Ka Safar Hai;
Na Koi Sathi Na Hamsafar Hai;
Chalte Hain Dil Ke Sahare Ye Soch Kar;
Ki Agale Hi Mor Par Khushiyo Ka Sahar Hoga !!

तुम आ जाओ वापिस

Gam Ki Sagar Me Kuchh Is Kadar Kho Gayi Hai
ज़िन्दगी जैसे एक सज़ा सी हो गयी है,
ग़म के सागर में कुछ इस कदर खो गयी है,
तुम आ जाओ वापिस यह गुज़ारिश है मेरी,
शायद मुझे तुम्हारी आदत सी हो गयी है !!


Zindagi Jaise Ek Saja Si Ho Gayi Hai;
Gam Ki Sagar Me Kuchh Is Kadar Kho Gayi Hai;
Tum Aa Jao Wapis Yeh Gujarish Hai Meri;
Shayad Mujhe Tumhari Aadat Si Ho Gayi Hai !!

मेरे शहर में आकर चला गया

Kal Phir Wo Mere Shahar Me Aa Kar Chala Gaya
नया दर्द एक और दिल में जगा कर चला गया​;​
​​कल फिर वो मेरे शहर में आकर चला गया​;​
​​जिसे ढूंढ़ता रहा मैं लोगों ​की भीड़ में;​
​​मुझसे वो अप​ने आप ​को छुपा कर चला गया !!


Naya dard Ek Aur Dil Me Jaga Ke Chala Gaya;
Kal Phir Wo Mere Shahar Me Aa Kar Chala Gaya;
Jise Mai Dhundhta Raha Logo Ki Bhid Me;
Mujhse Wo Apne Aap Ko Chhupa Kar Chal Gaya !!

तलाश ये नज़र बार बार करती हैं


आपकी जुदाई भी हमें प्यार करती हैं;
आपकी याद बहुत बेकरार करती हैं;
जाते जाते कहीं भी मुलाकात हो जाये आप से;
तलाश आपको ये नज़र बार बार करती हैं !!


Aapki Judai Bhi Hame Pyar Karti Hai;
Aapki Yaad Bahut Bekarar Karti Hai;
Jate Jate Kahi Bhi Mulakat Ho Jaye Aapse;
Talash Aapko Ye Najar Baar Baar Karti Hai !!

तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे है

Tere Intejar Me Kab Se Udas Baithe Hain
तेरे इंतजार मे कब से उदास बैठे है,
तेरे दीदार में आँखे बिछाये बैठे है,
तू एक नज़र हमको देख ले,
इस आस मे कब से बेकरार बैठे है !!


Tere Intejar Me Kab Se Udas Baithe Hain,
Tere Didaar Me Aakhen Bichhaye Baite Hain,
Tu Ek Najar Hamko Dekh Le,
Is Aas Me Kab Se Bekarar Baithe Hain !!

मौत आएगी उनकी ही बाहों में

Chiraag Khushiyo Ke Kab Se Bujhaye Baithe Hain
चिराग खुशियों के कब से बुझाए बैठे हैं,
कब दीदार होगी उनसे हम आश लगाए बैठे हैं,
हमें मौत आएगी उनकी ही बाहों में,
हम मौत से ये सर्त लगाए बैठे हैं !!


Chiraag Khushiyo Ke Kab Se Bujhaye Baithe Hain,
Kab Didar Hogi Unse Ham Aash Lagaye Baite Hain,
Hame Maut Aayegi Unki Hi Baho Me,
Ham Maut Se Ye Shart Lagaye Baithe Hain !!