मत पूछोये इश्क कैसा होता है

Mat Puchhiye Ishq Kaisa Hota Hai..
मत पूछोये इश्क कैसा होता है………..
बस यहीं समझ लीजिए जो रूलाता है ना,
उसे ही गले लगाकर रोने को जी चाहता है !!


Mat Puchhiye Ishq Kaisa Hota Hai……..
Bas Yahi Samajh Lijiye Jo Rulata Hai Na,
Use Hi Gale Laga Kar Rone Ko Jee Chahta Hai !!

आँसू मुस्कुराहट से

Aansu Muskurahat Se Jada Achhe Hote Ha
आँसू मुस्कुराहट से ज्यादा अच्छे होते है,
जानते हो क्यूँ ?….
क्यूँकि मुस्कुराहट सभी के लिये होती है !
और आँसू किसी खास के लिये होते है !!


Aansu Muskurahat Se Jada Achhe Hote Hai,
Jante Ho Kyu ?…..
Kyoki Muskurahat Sabhi Ke Liye Hote Hai!
Aur Aansu Kisi Khash Ke Liye Hote Hai!!

♣♠ अक्सर वो लोग ♠♣

Ye Faile Huye Unke Pankh Bolte Hai
परिंदों को मंजिल मिलेगी यकीनन;
ये फैले हुए उनके पर बोलते हैं;
अक्सर वो लोग खामोश रहते हैं;
ज़माने में जिनके हुनर बोलते हैं ||


Parinde Ko Manjil Milegi Yakinan;
Ye Faile Huye Unke Pankh Bolte Hai;
Aksar Wo log khamosh Rahte Hai;
Jamane Me Jinke Hunnar Bolte Hain !!

वो तूफान क्या जाने

Pyar Kise Kahte Hain Wo Anjaan Kya Jaane

दिल पे क्या गुज़री वो अनजान क्या जाने,
प्यार किसे कहते है वो नादान क्या जाने,
हवा के साथ उड़ गये घर इस परिंदे का,
कैसे बना था घोसला वो तूफान क्या जाने !!


Dil Pe Kya Gujri Wo Anjan Kya Jaane;
Pyar Kise Kahte Hain Wo Anjaan Kya Jaane;
Hawa Ke Sath Ud Gaye Ghar Is Parinde Ka;
Kaise Bana Tha Ghosla Wo Tufan Kya Jaane !!
                                                                                                                                                                                         “प्रमोद नौटिया”

रिश्ते भी टुट जाते है

Bahut Achhe-Achhe Rishtey Bhi Tut Jate Hain
किसी ने क्या खुब कहा है…..
साहब
बहुत ज्यादा परखने से,
बहुत अच्छे अच्छे रिश्ते भी टुट जाते है !!


Kisi Ne Kya Khub Kaha Hai……….
Saheb
Bahut Jayada Parakhane Se,
Bahut Achhe-Achhe Rishtey Bhi Tut Jate Hain !!

मेहमान बुरा लगता है

Sach Kahu To Mujhe Ahsan Bura Lagta Hai
सच कहूँ तो मुझे एहसान बुरा लगता है,
जुल्म सहता हुआ इंसान बुरा लगता है,
कितनी मसरुक हो गयी है ये दुनिया,
एक दिन ठहरे तो मेहमान बुरा लगता है !!


Sach Kahu To Mujhe Ahsan Bura Lagta Hai;
Julm Sahta Huwa Insan Bura Lagta Hai;
Kitni Masrukh Ho Gayi Hai Duniya;
Ek Din Thahare To Mehman Bura Lagta Hai !!

मोहब्बत मुकदर है

Mahobat Mukaddar Hai Ek Khawab Nahi
मोहब्बत मुकदर है एक ख्वाब नही;
ये वोह अदा है कि सब जिसमे कामयाब नही;
जिन्हें पनाह मिली उंगलियो पर गिन लो उन्हें;
मगर जिनके कतल हुए उनका कोई हिसाब नहीं !!


Mahobat Mukaddar Hai Ek Khawab Nahi;
Ye Wo Adda Hai Ki Sab Jisme Kamyab Nahi;
Jinhe Panah Mili Ungaliyon Par Gin Lo Unhe;
Magar Jinke Katal Huye Unka Koi Hisab Nahi !!

दिल इतना नादान क्यों है

Gulshan Hai Agar Safar Zindagi Ka To Usaki Manjil Samsan Kyon Hai

गुलसन है अगर सफ़र जिंदगी का तो इसकी मंजिल समशान क्यों है?
जब जुदाई है प्यार का मतलब तो फिर प्यार वाला हैरान क्यों है?
अगर जीना ही है मरने के लिए तो जिंदगी ये वरदान क्यों है?
जो कभी न मिले उससे ही लग जाता है दिल;
आखिर ये दिल इतना नादान क्यों है?


Gulshan Hai Agar Safar Zindagi Ka To Usaki Manjil Samsan Kyon Hai;
Jab Judai Hai Pyar Ka Matlab To Fir Wala Hairan Kyo Hai?
Agar Jina Hi Hai Marne Ke Liya To Zindagi Wardan Kyo Hai?
Jo Kabhi Na Mile Usse Hi Lag Jata Dil;
Aakhir Ye Dil Itana Nadan Kyo HAI ??